भारतीय भाषाओं द्वारा ज्ञान

Knowledge through Indian Languages

Dictionary

Definitional Dictionary of Cell Biology (English-Hindi) (CSTT)

Commission for Scientific and Technical Terminology (CSTT)

A B C D E F G H I J K L M N O P Q R S T U V W X Y Z

Please click here to view the introductory pages of the dictionary
शब्दकोश के परिचयात्मक पृष्ठों को देखने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें।

< previous1234567898687Next >

Α-amanitin

ऐल्फा – एमेनिटिन
ऐमेनिटा फैलॉयडीज़ (Amanita phalloides) नामक छत्रक से प्राप्त चक्रिक ऑक्टोपेष्टाइड आविष जो आर.एन.ए. पॉलिमरेज II के संदमन में तो सक्षम होता है किंतु सूत्रकणिकीय आर.एन.ए. संश्लेषण का संदमन नहीं कर पाता । इसका उपयोग उक्त प्रकिण्वों के अभिलक्षणन में किया जाता है ।

A-form of DNA

डी.एन.ए. का ए-रूप
निर्जलीकरण प्रक्रिया से उत्पन्न, द्विरज्जुक डी.एन.ए. का वैकल्पिक रूप जिसकी दक्षिणावर्ती कुंडलिनियों में प्रति आवर्त ग्यारह न्यूक्लिओटाइड होते हैं। सामान्यि डी.एन.ए. की प्रति आवर्त 10 न्यूक्लोओटाइडों वाली कुंडलिनियों की तुलना में डी.एन.ए. के ए. – रूप की कुंडलिनियाँ चौड़ी और छोटी होती हैं।

A-Site of ribosome

राइबोसोम का ए. – स्थल
ऐमीनोएसिल-टी-आर.एन.ए. को जोड़ने के लिए राइबोसोम की बड़ी वाली उपइकाई पर एक स्थल ।

A.D.P. (adenosine diphosphate)

ए.डी.पी. (ऐडेनोसिन डाइफॉस्फेट)
ऐडेनोसिन से बना एक राइबोन्यूक्लिओसाइड 5 डाइफॉस्फेट, जो कोशिका ऊर्जा-चक्र के अंतर्गत उच्च ऊर्जा आबंध द्वारा अपने साथ एक और फॉस्फेट समूह जुड़ने से ए.टी.पी. में परिवर्तित होता है ।

A.T.P. (adenosine triphosphate)

ए.टी.पी. (ऐडेनोसिन ट्राइफॉस्फेट)
आर.एन.ए. और डी.एन.ए. में उपस्थित चार न्यूक्लिओटाइडों में से एक न्यूक्लिओटाइड जिसमें क्षारक के स्थान पर ऐडेनीन होता है । (जैसे डी-ए.टी.पी.) । यह कोशिकाओं में ऊर्जा संचय करने वाला प्रमुख प्रदान करता है । इसके अंत्य फॉस्फेट के जल – अपघटन से निकली ऊर्जा का उपयोग उपापचयी प्रक्रमों में होता है ।

A.U.G. Codon

ए.यू.जी. प्रकूट
पॉलीपेप्टाइड संश्लेषण प्रारंभ करने वाला कोडॉन जो प्रोटीन श्रृंखला में कहीं भी आने वाले मेथियोनीन ऐमीनो – अम्ल का कोडन करता है ।

Acatalasia

एकेटालेसिया
मनुष्य में कैटालेज एन्जाइम क वंशानुगत अभाव जो अलिंग सूत्र के अप्रभावी जीन के कारण होता है ।

Acentric

अकेंद्री
(गुणसूत्र) जिसमें सेन्ट्रोमियर (सूत्रकेंद्र) नहीं होता ।

Acentric fragment

अकेंद्री खंड
गुणसूत्र का ऐसा खंड जिसमें सूत्रकेंद्र न हो ।

Acetyl choline

ऐसीटिल कोलीन
तंत्रिका कोशिका द्वारा स्रवित एक ऐसा तंत्रि-रासायन जो अंतर्ग्रथन तथा तंत्रिपेशीय संधि पर विमोचित होता है । इसके अणु कोलीनेस्टरेज की क्रिया द्वारा तुरंत निम्नीकृत हो जाते हैं और इस प्रकार तंत्रिका फिर से ए आवेग को ग्रहण करने के लिए सक्षम हो जाती है ।

Acetyl coenzyme A

ऐसीटिल सहएन्जाइम ए.
सह-एन्जाइम ए. का एक ऐसीटिल थायोएस्टर जो कार्बोहाइड्रेटों के अपचयन तथा अम्लों के बीटा-ऑक्सीकरण के दौरान बनता है । यह अनेक उपापचयी अभिक्रियाओं में अंतरण कर्मक का काम करता है ।

Achiasmatic

अकिऐज्मी
(अर्धसूत्रीविभाजन) जिसमें व्यत्यासिका नहीं बनती ।

Achiasmatic meiosis

अकिऐज्मी अर्धसूत्रण
अर्धसूत्री विभाजन जिसमें किऐज्मा नहीं बनता ।

Achromatic figure (mitotic apparatus)

अवर्णक आकृति
सूत्री विभाजन के दौरान बनने वाली एक संरचना जिसमें तारक -युग्म, तर्कु तथा उस के अनेक कर्षम रेशे शामिल होते ह ।

Acid hydrolase

अम्ल हाइड्रोलेज़
एन्ज़ाइमों के एक ऐसे वर्ग का सदस्य जो जल – अपघटनी अभिक्रियाओं का उत्प्रेरण करते हैं। ये लयनकायों के भीतर लगभग 5 पीएच. की अम्लता पर अनुकूलतम रूप से सक्रिय होते हैं ।

Acid phosphatase

अम्ल फ़ॉस्फ़ेटेज़
प्रकिण्व जो विविध पदार्थों से फ़ॉस्फ़ेट समूहों को अलग करता है और अम्लीय पीएच. पर अनुकूलतम रूप से सक्रिय रहता है । यह गॉल्ज़ी उपकरण के भीतर पाए जाने वाले लयनकायों का एक महत्वपूर्ण घटक है ।

Acrocentric chromosome

अग्रकेंद्री गुणसूत्र
गुणसूत्र जिसका सूत्रकेंद्र एक सिरे पर होता है । मानव में ये गुणसूत्रों की उन लघु भुजाओं पर अनुषंगी होते हैं । जिसमें राइबोसोमी आर.एन.ए. जीन मौजूद होते हैं ।

Acrosome

अग्रपिंडक, एक्रोसोम
शुक्राणु के सिर का वह भाग जो गॉल्जी संमिश्र से व्युत्पन्न होता है और केंद्रक के अग्र सिरे को ढकता है । इसमें हायल्यूरोनिडेज़, प्रोटीएज़ और अम्ल फ़ॉस्फ़ेटेज़ जैसे अनेक एन्ज़ाइम होते हैं ।

Actin

ऐक्टिन
पेशी तथा कोशिका पंडर के सूक्ष्मतंतुओं में पाया जाने वाला एक प्रोटीन । यह गोलिकामय (जी. ऐक्टिन) तथा रेशेदार (एफ. ऐक्टिन) इस दो रूपों में मिलता है ।

Actinomycin D

ऐक्टिनोमाइसिन डी.
एक एन्टीबायोटिक जो डी.एन.ए. के विशिष्ट क्षारक प्रक्षेत्रों (साइटोसीन और ग्वानीन प्रचुर क्षेत्र) में अंतर्विष्ट होकर आर.एन.ए. संश्लेषण को रोकता है । इसे स्ट्रेप्टोमाइसीज़ नामक जीवाणओं की एक जाति से प्राप्त किया जाता है ।
< previous1234567898687Next >

Search Dictionaries

Loading Results

Follow Us :   
  Download Bharatavani App
  Bharatavani Windows App